अगवा कर 20 हजार रुपए की फिरौती मांगने वाले तीन आरोपियों को क्राइम ब्रांच सेंट्रल ने किया गिरफ्तार

आरोपियों ने अपने आप को एसटीएफ व कोतवाल अधिकारी बताकर किया था अगवा

फरीदाबाद : क्राइम ब्रांच सेंट्रल प्रभारी दीपक लोहान की टीम ने 47 वर्षीय व्यक्ति को अगवा करने के मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए उसे सकुशल बरामद कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों में विष्णु, विवेक तथा गोपाल का नाम शामिल है। तीनों आरोपी वृंदावन के रहने वाले हैं। फरीदाबाद सागरपुर गांव का रहने वाला रोहतास 3 फरवरी को परिक्रमा करने के लिए वृंदावन गया था जहां शाम के समय परिक्रमा करते समय आरोपियों ने अपने आप को एसटीएफ व थाना कोतवाल अधिकारी बताकर उसे मोटरसाइकिल पर बैठा लिया और उसे आरोपी विवेक की दुकान पर ले गए जहां पर तीनों ने मिलकर रोहतास के साथ मारपीट की और उसे रस्सी से बांध लिया।

आरोपियों ने रोहतास से 400 छीन लिए तथा ओर पैसों की मांग करने लगे जिस पर रोहतास ने कहा कि उसके पास पैसे नहीं है और उसके पास मोबाइल भी नहीं था तो आरोपियों ने उसके परिजनों का फोन नंबर लेकर रोहतास के भतीजे दीपक के पास फोन किया और 20000 की मांग करने लगे। पैसे नहीं देने पर उसके चाचा के पैर में गोली मार देने की धमकी दी। दीपक ने अपने चाचा को बचाने के लिए 5000 गूगल पे कर दिए। इसके बाद आरोपियों का फिर से फोन आया और वह ओर पैसों की मांग करने लगे जिसपर पीड़ित पक्ष ने सदर बल्लभगढ़ थाने में शिकायत दी। शिकायत के आधार पर 4 फरवरी को मुकदमा दर्ज करके थाना व ब्रांच की टीम आरोपियों की तलाश में जुट गई।

मामले में क्राइम ब्रांच सेंट्रल की टीम ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए मात्र 24 घंटे में रोहतास को वृंदावन से आरोपियों के कब्जे से छुड़ाकर सकुशल बरामद कर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयोग 2 मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं। आरोपियों को फरीदाबाद लाया गया और पुलिस पूछताछ शुरू की गई जिसमें सामने आया कि आरोपी नशेड़ी किस्म के व्यक्ति हैं जिन्होंने नशे की आपूर्ति के लिए रोहतास का अपहरण किया था। आरोपी विष्णु बहुत ही शातिर अपराधी है इसके खिलाफ लूट व चोरी के 6 मुकदमे पहले से दर्ज हैं। मामले में वारदात में प्रयोग रॉड तथा मोटरसाइकिल बरामद करने के लिए आरोपियों को अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!