देशी-विदेशी कलाकारों ने शानदार प्रस्तुतियों से पर्यटकों को किए रखा मंत्र मुग्ध

37वें सूरजकुंड अंतरराष्टरीय शिल्प मेला में कलाकार मचा रहे हैं धूम

सूरजकुंड (फरीदाबाद), 07 फरवरी। 37वें सूरजकुंड अंतरराष्टरीय शिल्प मेला में आज छोटी और बडी चौपाल में देशी और विदेशी कलाकारों ने शानदान प्रस्तुतियों से दर्शकों को मंत्र मुग्ध किए रखा। इन कलाकारों की प्रस्तुतियों पर दर्शक बार-बार तालियां बजाने पर भी विवश नजर आए। प्रदेश के प्रसिद्ध हास्य कलाकार महेंद्र सिंह ने दर्शकों को हास्य व्यंग से खूब गुदगुदाया।

छोटी चौपाल में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आगाज राजस्थान के कलाकारों ने प्रदेश के प्रसिद्ध चक्री लोक नृत्य से किया। इन कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति से राजस्थान की समृद्ध संस्कृति से रूबरू करवाया। इसके बाद माली के विदेशी कलाकारों ने शानदार नृत्य प्रस्तुत किया तथा हैरतंगेज करतबों से दर्शकों को दांतो तले उंगलियां दबाने पर मजबूर कर दिया। इन कलाकारों ने बिजली व पंछी नाम लोक गीतों पर शानदार नृत्य किया। हरियाणा के पडोसी प्रदेश पंजाब के कलाकारों ने प्रदेश की समृद्ध संस्कृति की झलक बिखेरते हुए शानदार भांगडा प्रस्तुत किया।

दक्षिण भारत के राज्य आंध्रप्रदेश के कलाकारों ने लंबाडी नृत्य प्रस्तुत किया। यह नृत्य महिला कलाकारों द्वारा फसल बुआई तथा फसल कटाई के अवसर पर अपनी खुशी को व्यक्त करने के लिए किया जाता है। इस नृत्य में 15 से 20 महिलाएं पारंपरिक आभूषण पहनकर नृत्य करती हैं। हरियाणा के कलाकारों ने तीज-त्यौहार के उपलक्ष्य में किए जाने वाले नृत्य की शानदार प्रस्तुति से दर्शकों की खूब तालियां बटोरी। कलाकारों ने सामण की रूत आई-सब झूमै लोग-लुगाई व झूलण ज्यांगी हे मा मेरी बाग में री गीतों पर शानदार नृत्य की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर कला एवं सांस्कृति कार्य विभाग की सांस्कृतिक अधिकारी रेणु हुड्डïा तथा पर्यटन विभाग की सरोज मान ने दीप प्रज्जवलन से कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इसके अलावा भी दिनभर देशी विदेशी कलाकारों ने शिल्प मेला में पहुंचे पर्यटकों का भरपूर मनोरंजन किया।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!