हरियाणा के 500 बेरोजगार युवाओं व किसानों को प्रशिक्षण दिलाकर बनाया जाएगा ड्रोन पायलट : उपायुक्त

फरीदाबाद : उपायुक्त विक्रम सिंह ने बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बजट घोषणा के समय राज्य के 500 बेरोजगार युवाओं व किसानों को ड्रोन पायलट प्रशिक्षण देने की घोषणा की थी जिसकी अनुपालना में अब हरियाणा सरकार ने कृषि एवं किसान कल्याण विभाग हरियाणा के माध्यम से ड्रोन प्रशिक्षण (Drone pilot training) प्रक्रिया की शुरुआत कर दी है। उन्होंने बताया कि यह प्रशिक्षण किसानों को पूर्णतया: निशुल्क प्रदान किया जाएगा जिसमें प्रशिक्षण के साथ-साथ रहने व खाने का खर्च भी विभाग द्वारा ही वहन किया जाएगा।

डीसी विक्रम सिंह ने योजना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 18 से 45 वर्ष की आयु तक के किसान व बेरोजगार युवा इस ड्रोन पायलट प्रशिक्षण (Drone pilot training) के लिए आवेदन कर सकते हैं। यह प्रशिक्षण 2 चरणों में कुल 8 दिन में पूर्ण करवाया जाएगा। आवेदक कम से कम 10वीं परीक्षा पास व उसके पास वैध पासपोर्ट हो और वह किसी किसान उत्पादक संगठन या कस्टम हायरिंग सेंटर का सदस्य होना अनिवार्य है। ये सभी योग्यताएं रखने वाले इच्छुक किसान व बेरोजगार युवा ड्रोन पायलट बनने के लिए दिनांक 19-05-2023 से 13-06-2023 तक कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के www.agriharyana.gov.in पोर्टल पर आवेदन कर सकते है।

सहायक कृषि अभियन्ता इंजी. विजय कुमार ने बताया कि आवेदक का मूलभूत विवरण परिवार पहचान पत्र के अनुसार माना जाएगा व आवेदन करते समय पासपोर्ट व उप कृषि निदेशक द्वारा जारी सम्बन्धित किसान उत्पादक संगठन या कस्टम हायरिंग सेन्टर द्वारा किए गए कार्य का प्रमाण पत्र अपलोड करना होगा। अन्तिम तिथि तक पोर्टल पर प्राप्त होने वाले आवेदनों की जांच संबंधित सहायक कृषि अभियन्ता व उप कृषि निदेशक द्वारा की जाएगी और दस्तावेज जांब उपरान्त निर्धारित मापदंड अनुसार वरीयता सूची तैयार की जाएगी। वरीयता सूची शैक्षणिक योग्यता, कृषि अनुभव पृष्ठभूमि व एफ पी ओ के अनुभव के आधार पर निर्धारित 100 अंको के आधार पर तैयार की जाएगी। चयनित युवाओं को ड्रोन इमेजिंग एंड इंफॉर्मेशन सर्विस ऑफ हरियाणा लिमिटेड (दृश्या) करनाल एवं बागवानी प्रशिक्षण संस्थान करनाल में प्रशिक्षण उपलब्ध करवाया जाएगा

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!