पत्रकारिता के क्षेत्र में हैं अपार संभावनाएं : प्रो एस.के.तोमर

शोर्ट कंटेंट परोसना आज के युवाओं के लिए सबसे बड़ी चुनौती : राजीव जेटली

– प्रैक्टिकल ट्रेनिंग है पत्रकारिता का आधार: डॉ. पवन सिंह
– संचार एवं मीडिया तकनीकी विभाग द्वारा समर इंटर्नशिप शुरू
– जे.सी.बोस विश्वविद्यालय वाईएमसीए में तृतीय समर इंटर्नशिप का शुभारंभ

फरीदाबाद-11 जून। जे.सी.बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद में संचार एवं मीडिया तकनीकी विभाग द्वारा तृतीय समर इंटर्नशिप का आयोजन किया गया। यह इंटर्नशिप 11 जून से 10 जुलाई 2024 तक एक महीने तक चलेगी। इंटर्नशिप के उद्घाटन कार्यक्रम में हरियाणा मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जेटली, कुलपति प्रो एस.के.तोमर, रेडियो महारानी 89.6 एफएम की प्रमुख सपना सूरी और सीएमटी विभाग के अध्यक्ष डॉ. पवन सिंह, इंटर्नशिप कोऑर्डिनेटर डॉ तरुणा नरूला, सीनियर इंस्ट्रक्टर दुष्यंत त्यागी और प्रोडक्शन असिस्टेंट पंकज सैनी विशेष रूप से उपस्थित रहे।

मीडिया विभाग के स्टूडियो में आयोजित कार्यक्रम में तृतीय समर इंटर्नशिप-2024 का शुभारंभ हुआ। संचार एवं मीडिया तकनीकी विभाग के अध्यक्ष डॉ.पवन सिंह द्वारा अतिथियों के अभिवादन के साथ हुई। उन्होंने अपने स्वागत उद्बोधन में थ्योरिटिकल और व्यावहारिक कौशल के बीच अंतर को बताया। इंटर्नशिप के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और मीडिया के व्यवहारिक अनुभव प्रदान करने के लिए विश्वविद्यालय की प्रतिबद्धता पर प्रकाश डाला।

कुलपति प्रोफेसर एस.के.तोमर के शब्दों का अनुसरण करते हुए, जहां उन्होंने संचार एवं मीडिया प्रौद्योगिकी विभाग की उपलब्धियों पर गर्व व्यक्त किया। मीडिया के विद्यार्थियों को इंटर्नशिप कार्यक्रम द्वारा प्रदान किए गए अवसरों का अधिक लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित किया। इस समर इंटर्नशिप में शामिल सभी प्रशिक्षुओं के लिए एक समृद्ध अनुभव होने का वादा करती है, जिसमें व्यावहारिक सीखने और पेशेवर विकास पर ध्यान केंद्रित किया जाता है। पत्रकारिता में अपार संभावनाएं है। मीडिया विद्यार्थी को पर्यावरण क्षेत्र में गंभीरता से कार्यरत रहने की आवश्यकता है।

मुख्य अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी के मीडिया सलाहकार राजीव जेटली ने अपने उद्बोधन में डिजिटल युग में मीडिया और संचार के विकसित परिदृश्य पर चर्चा की। उन्होंने छात्रों को नई प्रौद्योगिकियों को अपनाने और बदलते मीडिया परिवेश के अनुरूप ढलने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा, “मीडिया उद्योग को आज ऐसे पेशेवरों की आवश्यकता है जो न केवल कुशल हों बल्कि अनुकूलनीय और इनोवेटिव भी हों।” आज समय की कमी के चलते सभी 30 सेकंड में ही दुनिया भर की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। इन्ही 30 सैकंड में कंटेंट परोसना आज के युवाओं के लिए सबसे बड़ी चुनौती है।
विशिष्ट अथिति के रूप में रेडियो महारानी प्रमुख सपना सूरी ने रेडियो प्रसारण में अपने विशेष अनुभव को विद्यार्थियों के साथ साझा किया। उन्होंने कहानी कहने की शक्ति और समाज पर मीडिया के प्रभाव के बारे में बात की। उन्होंने कहा, “रेडियो के पास लोगों से जुड़ने का एक अनोखा तरीका है और यह सामाजिक परिवर्तन लाने का एक शक्तिशाली एवं सरल माध्यम है।”

समारोह में डॉ. तरूणा नरूला ने अतिथियों और प्रतिभागियों को उनकी उपस्थिति और समर्थन के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, “यह इंटर्नशिप आपके कौशल को बढ़ाने और आपको अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए एक मंच प्रदान करने के लिए डिज़ाइन की गई है।”

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!