सड़क सुरक्षा माह के तहत फरीदाबाद यातायात पुलिस ने सरकारी स्कूलों में छात्र व छात्राओं को यातायात नियमों के बारे में किया जागरूक

इस दौरान गर्वनमेंट बॉयज सी0 से0 स्कूल ओल्ड व गर्वनमेंट गर्ल्स सी0 से0 स्कूल फरीदाबाद के करीब 1550 छात्र-छात्राओं ने जाने यातायात के नियम

फरीदाबाद : फरीदाबाद पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य के कुशल मार्गदर्शन व डीसीपी ट्रैफ़िक अमित यशवर्धन के दिशा निर्देशानुसार सड़क सुरक्षा माह के तहत फरीदाबाद यातायात पुलिस द्वारा गर्वनमेंट बॉयज सी0 से0 स्कूल ओल्ड व गर्वनमेंट गर्ल्स सी0 से0 स्कूल फरीदाबाद में यातायात नियमों जागरूकता अभियान चलाकर करीब 1550 छात्र-छात्राओं को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया गया।

इस संबंध में जानकारी देते हुए पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि यातायात पुलिस टीआई इंसपेक्टर सतीश कुमार व उनकी टीम द्वारा आज उपरोक्त दोनों स्कूलों में सड़क सुरक्षा माह के अंर्तगत यातायात नियमों के प्रति जागरूकता अभियान चलाया गया। इस दौरान गर्वनमेंट बॉयज सी0 से0 स्कूल ओल्ड के इंचार्ज गुरजीत सिंह, स्कूल स्टाफ रविन्द्र नागर, शिव रतन, पुष्पेन्द्र व मंजू शर्मा और गर्वनमेंट गर्ल्स सी0 से0 स्कूल फरीदाबाद की प्रधानाचार्य मन्जुला, स्कूल स्टाफ मनजीत, नन्दकिशोर, रविन्द्र, दिव्या व सीमा मौजूद रहे।

इस दौरान छा़त्र-छात्राओं को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करते हुए बताया गया कि हमें हमेशा सड़क पर बड़ी ही सावधानी से चलना चाहिए। सड़क पार करते समय हमें अपने दायें व बायें जरूर देखना चाहिए, तब सड़क पार करनी चाहिए। सड़क पर सावधानी हटते ही दुर्घटना घट जाती है, इसलिए अपने बचाव में ही सबका बचाव है। प्राय देखने में आता ही लोग जल्दबाजी में या जानबूझकर रेड लाइट सिग्नल को पार करते हैं, जोकि यह खुद के लिए व दूसरों के लिए जानलेवा साबित हो सकता है। अपने वाहन को हमेशा निर्धारित गति सीमा में ही चलाना चाहिए। वाहन चलाते समय कभी भी मोबाइल फोन का इस्तेमाल नही करना चाहिए और हमें अपने वाहन में ऊंची आवाज मे संगीत भी नही बजाना चाहिए।

इसके अलावा विधार्थियों को बताया गया कि सड़क पर किसी भी तरफ मुड़ते समय हमेशा इंडिकेटर का इस्तेमाल करना चाहिए। कभी भी शराब पीकर या अन्य नशा करके वाहन नही चलाना चाहिए। चार पहिया व इसके अधिक पहिया वाले वाहन चलाते समय हमेषा सीट बेल्ट का प्रयोग करना चाहिए। दो पहिया वाहन पर कभी भी बिना हेलमेट के नही चलाना चाहिए और जब तक हम 18 साल के ना हो जांए, तब तक कोई भी वाहन नही चलाना चाहिए। कोई भी दुर्घटना होने की परिस्थिती में हमें तुरंत 112 पर पुलिस को सूचना देनी चाहिए। ताकि समय रहते एम्बलेंस की मदद से घायल व्यक्ति को हस्पताल पंहुचाया जा सके और घायल व्यक्ति की जान बचाइ जा सके। यातायात नियमों के प्रति हमें अपने जानकार, साथी व आस-पड़ोस के लोगों को भी यातायात नियमों के बारे मे जागरूक करना होगा। ताकि समाज के सभी लोग जागरूक हो सकें और यातायात नियमों की पालना कर सकें।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!