जे.सी. बोस विश्वविद्यालय ने साधन से वंचित छात्राओं के लिए दान किये कम्प्यूटर

  • ई-लर्निंग को बढ़ावा देने के लिए जे.सी. बोस विश्वविद्यालय की पहल

फरीदाबाद, 11 फरवरी : सामाजिक जिम्मेदारियों के रूप में सामुदायिक सेवा के प्रति अपने प्रयास जारी रखते हुए जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने आज साधन से वंचित विद्यार्थियों के लिए कंप्यूटर का दान दिये। 

कुलपति प्रो दिनेश कुमार ने सेवा भारती संस्थान, फरीदाबाद के अधिकारियों को पांच कंप्यूटर सौंपे। सेवा भारत एक गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) है, जो समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए काम कर रहा है और मुफ्त चिकित्सा सहायता, मुफ्त शिक्षा एवं व्यावसायिक प्रशिक्षण जैसी सामाजिक सेवाएं प्रदान करता है। सेवा भारती के अधिकारी आत्म प्रकाश सेतिया और शिव कुमार कटारिया ने कुलपति को बताया कि कंप्यूटर का उपयोग सेवा भारती के सेक्टर -7, फरीदाबाद स्थित कंप्यूटर सेंटर में किया जाएगा जो सेवा भारती के जिला अध्यक्ष जीएल बंसल की देखरेख में साधन से वंचित छात्राओं के लिए चलाया जा रहा है। 

समाज सेवा के प्रति सेवा भारती के योगदान की सराहना करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि इन कंप्यूटरों से साधन से वंचित ऐसे छात्रों की मदद होगी जिन्हें अपनी शिक्षा जारी रखने के लिए प्रौद्योगिकीय संसाधनों की सख्त आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी ने विद्यार्थियों की शिक्षा को भारी नुकसान पहुंचाया है। महामारी के कारण शिक्षा के लिए प्रौद्योगिकी का महत्व आवश्यक हो गया है। उन्होंने सेवा भारती के अधिकारियों को इस पुनीत कार्य के लिए हरसंभव सहयोग देने का आश्वासन दिया।

कंप्यूटर इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष डॉ. कोमल कुमार भाटिया ने कहा कि कंप्यूटर इंजीनियरिंग विभाग में लैब अपगेडेशन के कारण काफी कंप्यूटर पुराने हो गये थे, जिन्हें बदलने की आवश्यकता थी। हालांकि सभी कंप्यूटर अच्छे है और कुछ को दोबारा तैयार किया गया है ताकि इनका पढ़ाई की दृष्टि से सही उपयोग सुनिश्चित हो सके। 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!