एसीपी सराय के नेतृत्व में पुलिस टीम ने Lingaya’s यूनिवर्सिटी में छात्रों को नए भारतीय दंड संहिता में किए गए संशोधन के बारे में किया जागरूक

फरीदाबाद : हरियाणा पुलिस महानिदेशक के आदेश अनुसार वह पुलिस आयुक्त राकेश कुमार आर्य की दिशा निर्देश के तहत सहायक पुलिस आयुक्त सराय श्री शैलेंद्र कुमार ने Lingaya’s यूनिवर्सिटी में छात्रों को नए कानून के बारे में किया जागरूक किया। इस अवसर पर उनके साथ मेट्रो थाना प्रभारी निरीक्षक जय किशन तथा यूनिवर्सिटी के लेक्चर, शिक्षकगण तथा छात्र मौजूद रहे।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि भारत सरकार द्वारा भारतीय दंड संहिता तथा दंड प्रक्रिया संहिता में संशोधन किया गया है। इसके बारे में आमजन को जानकारी होना अति आवश्यक है ताकि वह इसके प्रति जागरूक होकर अपने अधिकारों के लिए लड़ सकें और कोई भी व्यक्ति या संगठन उनके अधिकारों का हनन न कर सके। किसी को ध्यान में रखते हुए एसीपी सराय ने यूनिवर्सिटी में छात्रों को विभिन्न न्यायिक विषयों के बारे में जागरूक किया जिसमें उन्होंने बताया कि भारतीय दंड संहिता में बदलाव एक महत्वपूर्ण विषय है। यह संहिता भारतीय कानूनी प्रणाली के मूल तत्वों और न्यायिक दंड प्रक्रिया को संशोधित और सुधार करने का माध्यम है। बदलाव के माध्यम से, संहिता समयानुसार संशोधित की जाती है ताकि यह न्यायपूर्णता, समानता, और सुरक्षा की मान्यताओं के साथ संगत रहे। इसके अलावा, बदलाव नवीनतम विचारों, तकनीकों, और सामाजिक परिवर्तनों के समायोजन को ध्यान में रखते हुए संहिता को अधिक सुगम, प्रभावी, और संघटित बनाने का माध्यम भी है। इस प्रकार, बदलाव की प्रक्रिया मानवाधिकारों, न्यायिक सुविधाओं, और सामाजिक भरोसे को सुनिश्चित करती है जो एक सुरक्षित और न्यायपूर्ण समाज के आधार को मजबूत बनाता है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!